राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति आवेदन – NMMS Scholarship Registration

मित्रों सबको नमस्कार, आज हम इस आर्टिकलमे जिस स्कीमके बारेमें बताने जाने वाले हैं वूस स्कीम का नाम है “National Means Cum Merit Scholarship (राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना)” जो स्कीम केंद्र सरकार के द्वारा पुरे देशमें पढ़ रहे लाखों छात्रोंकी उच्च शिक्षाके लिए शुरू की गई थी। जिसके अंदर भारत सरकार के लगभग 10,00,000 छात्रों को प्रतिमाह छात्रवृत्ति देंगे, इस स्कीम का लाभ उठणे केलिए आपको भारत सरकार के नेशनल स्कॉलरशिप वेब साईट scholarships.gov.in पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करणा होगा। अब आप आगे आर्टिकलमे जानेंगे योजनासे संबंधित पात्रता, ओर मापदंड, आवश्यक दस्तावेज इत्यादि। अगर आपभी इस योजना का लाभ उठाना हैं तो कृपया आर्टिकल को पूरा पढ़ें, ओर इस स्कीम का लाभ ले।


क्या हे राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना (NMMS)


क्या हे राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना (NMMS) 

अक्सर आप सभी ने देखा होगा कि कई बार कोई छात्र पढ़ाई में अच्छा होता है लेकिन लाभ की स्थिति, धार्मिक या अन्य कारणों से विद्वान अपनी अकादमी की पढ़ाई बीच में ही छोड़ देते हैं। यूनिसेफ (संयुक्त राष्ट्र बाल कोष) की रिपोर्ट के अनुसार, देश के लगभग 36 बच्चे अपनी अकादमी की शिक्षा पूरी करने से पहले ही पढ़ाई छोड़ देते हैं और अकादमी के बाद अपनी उन्नत शिक्षा से वंचित रह जाते हैं। यह भारत सरकार के लिए बहुत चिंता का विषय है।

अकादमी की शिक्षा पूरी नहीं करने वाले अधिकांश बच्चे एससी एसटी/ओबीसी क्रम से आते हैं। यूनिसेफ के अनुसार, देश के 3 से 18 गुना आयु वर्ग के लगभग छह मिलियन () बच्चे अपनी अकादमी शिक्षा से वंचित हैं, जिसका सबसे बड़ा कारण माता-पिता अपने बच्चों को अकादमी में स्थानांतरित नहीं कर रहे हैं। इन्हीं सब प्रभावों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने एनएमएमएस योजना की शुरुआत की है।

जैसा कि हम ऊपर बात कर चुके हैं कि इस योजना के तहत भारत सरकार देश के एक लाख बच्चों को शिक्षा देगी। यह शिक्षा आठवीं से बारहवीं कक्षा में चार बार अध्ययन करने वाले छात्रों को दी जाएगी। राष्ट्रीय साधन सह योग्यता योजना के लिए विद्वानों का चयन सरकार द्वारा आयोजित परीक्षा के आधार पर किया जाएगा।

योजना में नामित विद्वानों को आवधिक ₹12,000/- के अनुसार ₹1,000/- प्रति माह दिया जाएगा। शिक्षा का भुगतान सरकार द्वारा ऑनलाइन माध्यम से विद्वानों के बैंक खाते में किया जायेगा। योजना के अनुसार केवल वही विद्वान जिनके माता-पिता या अभिभावकों की आवधिक आय ₹1,50,000/- से कम है, राष्ट्रीय साधन सह मेरिट छात्रवृत्ति योजना के लिए पात्र हैं।




Leave a Comment